Shayari ki Dayari ( Shayri ki Dayri ) in Hindi 

shayari ki dayari, shayri ki dayri

 दोस्तों आज के इस आर्टिकल में आपको  Shayari ki dayari ( Shayri ki Dayri ) से संबंद्धित बहुत सी पॉपुलर शायरी मिलेंगी | जिसे देखकर आपका मन पुलकित होने वाला है |

Releated Searches : Shayari ki dayari ( Shayri ki Dayri ),  shayri ki dayri in hindi,  Hindi Shayari ki Dairy , मेरी डायरी की शायरी, love diary images in hindi Etc.

इसे भी पढ़े – 


Shayari ki dayari | Shayri ki Dayri


shayari ki dayari, shayri ki dayri

1. गलत नहीं थे हम ,
वो अलग बात है की सबीत ,
नहीं कर पाए ;

galat nahi the hum ,
wo alag baat hai ki sbit ,
nahi kar paye ;

2. अपनी नज़रों से दूर ,
न कर मुझे ,
मेरे पास जीने के वजह बहुत कम है ;

apni nazron se door ,
na kar mujhe ,
mere pass jeene ke wajah bahut kam hai ;

3. आज अफ़सोस होता है ,
खुद के हाल पर ,
की खुद को खो भी दिया और तुमको ,
पा भी न सके ;

aaj afsos hota hai ,
khud ke haal par ,
ki khud ko kho bhi diya aur tumko ,
paa bhi na sake ;

4. फिर कौन है ,
आज मेरी जगह ,
तुम तो कहते थे ,
तुम्हारे जैसा कोई नहीं ;

phir kaun hai ,
aaj meri jagah ,
tum to kehte the ,
tumhare jaisa koi nahi ;

 Hindi Shayari ki Dairy || मेरी डायरी की शायरी


shayari ki dayari, shayri ki dayri

5. बात अब बंद है उनसे ,
उनकी ख़ुशी के लिए ;

baat ab band hai unse ,
unki khushi ke liye ;

6. गलत होकर भी खुद को सही साबित ,
करना उतना मुश्किल नहीं ,
सही साबित करना ;

galat hokar bhi khud ko sahi sabit ,
karna utna muskil nahi ,
sahi sabit karna ;

7. नाराज़गी होती तेरी तो तुझे मना भी लेते ,
पर तूने तो हस्ते - हस्ते धोखा दिया है ;

narazgi hoti teri to tujhe manaa bhi lete ,
par tune to haste - haste dhokha diya hai ;

8. नादानियाँ झलती है अभी भी मेरी आदतों से ,
मैं खुद हैरान हूँ मुझे इश्क़ हुआ कैसे ;

nadaniya jhalti hai abhi bhi meri aadaton se ,
main khud hairan hu mujhe ishq hua kaise ;

9. न जाने मैं बुरा हूँ या मेरा नसीब ,
मेरा हर वो शख्स ने दिल दुखाया है ,
जिस पर मुझे नाज़ था ;

na jane mai bura hu yaa mera naseeb ,
mera har wo shaks ne dil dhukhaya hai ,
jis par mujhe naaz tha ;

shayri ki dayri | shayri ki dayri in hindi


shayari ki dayari, shayri ki dayri

10. एक दिन ये दिल तुझे ,
याद करना भी भूल जायेगा ;

ek din ye dil tujhe ,
yaad karna bhi bhul jayega ;

11. ज़िन्दगी है चार दिन की , कुछ भी ना कीजिये...
दवा , जहर , जाम , इश्क़ जो मिले मज़ा कीजिए ;

zindagi hai char din ki , kuchh bhi naa kijiye...;
dva , jahar , jaam , ishq jo mile mjaa kigiye ;

12. दिल के आँगन में ख़ुशी के फूल खिल जाते है ,
जब एक अर्से बाद दो दोस्त चाय पे मिल जाते है ;

dil ke angan me khushi ke phool khil jate hai ,
jab ek arse baad do dost chay pe mil jate hai ;

13. धोको की खेती में तो जख्म ही मिलेंगे ,
कभी मोहब्बत के बीज लगा कर तो देखो ;

dhoko ki kheti me to jakhm hi milenge ,
kabhi mohabbat ke beej lga kar to dekho ;

14. बहुत दूर तक सफर करना पड़ता है ,
ये ज़माने के लिए की नजदीक कौन है ;

bahut door tak safar karna padta hai ,
ye jamane ke liye ki najdeek kaun hai ;

Shayari ki dayri in hindi


shayari ki dayari, shayri ki dayri

15. बदले हजार मौसम रिश्ते नहीं बदलते ,
दिल में रहने वाले दिल से नहीं निकलते ;

badle hjaar mausam rishte nahi badalte ,
dil me rahne vale dil se nahi nikalte ;

16. मैं दिल की मान क्यों लेता हूँ ,
जबकि कभी इसने मेरी मानी नहीं है ;

main dil ki man kyu leta hoon ,
jabki kabhi isne meri maanee nahi hai ;

17. हद से जाए ताल्लुक तो ग़म मिलते है ,
इसलिए अब हम हर शख्स से कम मिलते है ;

had se jae taalluk to gam milte hai ,
isliye ab hum har shaks se kam milte hai ;

18. कौन दुश्मन है यार...
यहाँ एक ही शख्स के बहुत है किरदार ;

kaun dushman hai yaar...
yaha ek hi shaks ke bahut hai kirdar ;

19. मेरी बहुत सी बातों का जबाब यही है ,
हाँ में गलत हूँ और तुम सही...;

meri bahut si baato ka jabab yahi hai ,
han me galat hoon or tum sahi...;

Shayari ki diary image in hindi


shayari ki dayari, shayri ki dayri

20. मैंने कब कहा की में ही सही ,
तुमने मुझे गलत जाना , तो गलत ही सही ;

maine kab kaha ki me hi sahi ,
tumne mujhe galat jana , to galat hi sahi ;

21. वो मतलब से मिल रहे थे ,
हमने मतलब ही खत्म कर दिया ;

wo matlab se mil rahe the ,
humne matlab hi khatam kar diya ;

22. साथ में रह कर गुमसुम से रहते हो ,
सादगी अच्छी नहीं लगती या मजबूरी में रहते हो ;

sath me rah kar gumshum se rahte ho ,
sadgi acchi nahi lagti ya majboori me rahte ho ;

23. हर कोशिश हुई मुझसे खफा ,
क्योकि वक़्त ही था बेबफा ;

har koshish hui mujhse khafa ,
kyoki waqt hi tha bebfa ;

24. लगता तो नहीं ये वक़्त है वही ,
दीखते तो हो फिर भी खोये से हो कही ;

lagta to nahi ye waqt hai vahi ,
dikhte to ho fir bhi khoye se ho kahi ;

Shayri ki dayri in hindi 2020


shayari ki dayari, shayri ki dayri

25. महसूस होता है क्या तुझे भी मेरा एहसास जैसे ,
की में ले रहा हूँ , तुझसे ही कही सास ;

mahsoos hota hai kya tujhe bhi mera ehsas jaise ,
ki me le rha hoon , tujhse hi kahi sas ;

26. मुझे परखने मैं पूरी जिंदगी लगा दी उसने ,
काश कुछ वक़्त समझने में लगाया होता ;

mujhe parkhne main puri zindagi lga di usne ,
kaash kuchh waqt samjhne me lgaya hota ;

27. जरा हालात क्या बदले हमारे ,
जो अपना था पराया हो रहा है ;

jra halat kya badle hamare ,
jo apna tha paraya ho raha hai ;

28. ये चेहरे पे मायूसी है ,
दिल नहीं भरोसा टूटने की हैए ;

ye chehre pe mayusi hai ,
dil nahi bharosa tutne ki haia ;

29. जख्म खाने की कोई उम्र नहीं होती ,
उम्र की अपने जख्म होते है ;

jakhm khane ki koi umar nahi hoti ,
umr ki apne jakhm hote hai ;

मेरी डायरी की शायरी | Dear Diary Shayari Image


shayari ki dayari, shayri ki dayri

30. सच्ची झूठी कम या ज़्यादा नहीं होती ,
मोहब्बत होती है बस या फिर नहीं होती ;

sachchi jhoothi kam ya zyada nahi hoti ,
mohabbat hoti hai bas ya fir nahi hoti ;

31. चेहरे से जो हमको अच्छे लगते है ,
दिल  के वो अच्छे हो जरूरी नहीं ;

chehre se jo humko acche lagte hai ,
dil  ke vo acche ho jaroori nahi ;

32. कहा मिलता है कोई समझने वाला ,
जो भी मिलता है समझा कर चला जाता है ;

kaha milta hai koi samajhne wala ,
jo bhi milta hai samjha kar chla jata hai ;

33. दोस्ती का अर्थ हम क्या खाक समझाए उसे ,
जो हमारी पीठ में चुपके से खंजर दे गया ;

dosti ka arth hum kya khak samjhaye use ,
jo hamari peeth me chupke se khanjar de gya ;

34. वक़्त नहीं होता किसी के पास ,
जब तक कोई मतलब न हो खास ;

waqt nahi hota kisi ke pass ,
jab tak koi matlab na ho khas ;

Meri Diary Sad Shayari


shayari ki dayari, shayri ki dayri

35. भरोसा टूटने की आवाज नहीं होती ,
पर गूँज ज़िन्दगी भर सुनाई देती है ;

bharosa tutne ki aawaj nahi hoti ,
par goonj zindagi bhar sunai deti hai ;

36. बढ़ गए है दोस्त उसके ,
कमी मेरी अब कहा खलेगी ;

badh gaye hai dost uske ,
kami meri ab kaha khalegi ;

37. हमेशा कम ही लगता है ,
तेरा दिया वक़्त जैसे क़र्ज़ लगता है ;

hamesha kam hi lagta hai ,
tera diya waqt jaise karz lagta hai ;

38. आज कल लोग याद दिल से नहीं ,
व्हाट्सप्प स्टेटस देख के करते है ;

aaj kal log yaad dil se nahi ,
whatsapp status dekh ke karte hai ;

39. इतना आसान नहीं है उस शख्स को समझना ,
जो जानता सब कुछ है पर बोलता कुछ नहीं ;

itna aasan nahi hai us shaks ko samajhna ,
jo jaanta sab kuchh hai par bolta kuchh nahi ;

Diary Of Shayari Images


shayari ki dayari, shayri ki dayri

40. नाराज नहीं हूं ये अच्छाई है मेरी ,
दूर रहना , मेहरबानी होगी तेरी ;

naraj nahi hu ye acchaai hai meri ,
door rahna , mehrbani hogi teri ;

41. एक वही था जिसे सब पता था ,
लोग बहुत थे आस पास फिर भी अकेला खड़ा था ;

ek wahi tha jise sab pta tha ,
log bahut the aas pass fir bhi akela khda tha ;

42. अगर ठहर जाते तो शायद मिल जाते हम तुम्हे ,
इश्क में इंतज़ार किया करते है , जल्दबाजी नहीं ;

agar thaher jate to shayad mil jate hum tumhe ,
ishq me intzar kiya karte hai , jaldbaji nahi ;

43. थोड़ा रुक मैं एक बार फिर तेरे शहर आउंगा ,
लेकिन इस बार अकेले नहीं ,
साथ हासिल किया हुआ मुक़ाम लाउंगा ;

thoda ruk main ek baar fir tere shahar aaunga ,
lekin is baar akele nahi ,
sath hasil kiya hua mukaam launga ;

44. बातें बड़ी बड़ी करते हो ,
दो हजार मांगने पर यार हूँ बोल देते हो ;

baate badi badi karte ho ,
do hjaar magne par yaar hoon bol dete ho ;

Love Shayari image Wallpaper


shayari ki dayari, shayri ki dayri

45. कब तक रोये तेरी याद मैं  ,
जिसे फ़िक्र नहीं ये , की में हूँ किस हाल में ;

kab tak roye teri yaad main  ,
jise fikar nahi ye , ki me hoon kis haal me ;

46. कौन कहता है खुदा नजर नहीं आता है ,
जब सब खत्म हो जाए तो बस एक वही नजर आता है ;

kaun kahta hai khuda najar nahi aata hai ,
jab sab khatam ho jae to bas ek wahi najar aata hai ;

47. लाख पता बदला मगर पहुँच ही गया ,
ये गम भी था कोई डाकिया जिद्दी सा ;

laakh pta badla magar pahuch hi gya ,
ye gam bhi tha koi dakiya ziddi sa ;

48. आदते छुटने दो...
बेरुखी क्या है अच्छे से बतायेंगे ;

aadte chhutne do...
berukhi kya hai acche se btayenge ;

49. रिश्ता बस वही कायम रह सकता है ,
जहाँ दोनों एक दूसरे को खोने से डरते हो ;

rishta bas wahi kayam rah sakta hai ,
jahan dono ek dusre ko khone se darte ho ;

इसे भी पढ़े – 

Heart Touching Shayari Hindi


shayari ki dayari, shayri ki dayri

50. हमसे फिर प्यार का इजहार किया है तुमने ,
ये तमाशा तो कई बार किया है तुमने ;

humse fir pyar ka ijhaar kiya hai tumne ,
ye tamasha to kai baar kiya hai tumne ;

51. रोज आँखों मैं कोई ख्वाब जगा देती है ,
ज़िन्दगी तूने अभी हार कहाँ मानी है ;

roj ankho main koi khvab jaga deti hai ,
zindagi tune abhi haar khan mani hai ;

52. किताबे धूल में लिपटी पड़ी है ,
हम उन पर शायरी लिख कर के खुश  है ;

kitabe dhool me lipti padi hai ,
hum un par shayri likh kar ke khush  hai ;

53. सुकून तो बस चेहरे का है ,
वरना लीबाज तो उसे सारे जचते है ;

sukoon to bas chehre ka hai ,
warana libaaj to use saare jchte hai ;

54. सब जान कर भी अनजान हूँ मैं ,
नासमझ नहीं नादान हूँ मैं ;

sab jaan kar bhi anjaan hoo main ,
naasamajh nahi nadaan hoon main ;

Meri Diary Sad Shayari


shayari ki dayari, shayri ki dayri

55. बर्बाद हम भी है बर्बाद वो भी है ,
चुप वो भी  रहे खामोश हम भी है ;

barbaad hum bhi hai barbaad wo bhi hai ,
chup wo bhi  rahe khamosh hum bhi hai ;

56. हो गई है ख़िलाफ मेरे शहर की भी हवाएँ ,
वो शख्स रूठ के जा रहा है , कोई बारिश तो ले आए ;

ho gai hai khilaf mere shahar ki bhi hawanye ,
wo shaks rooth ke jaa rha hai , koi barish to le aay ;

57. मेरी चाहत का एक लफ्ज न पढ़ सके तुम ,
मैं कैसे मान लूँ की तुमने ग्रेजुएशन किया है ;

meri chahat ka ek lafj n padh sake tum ,
main kaise maan lun ki tumne graduation kiya hai ;

58. कुछ वक़्त की बात है ,
हम संभाल जाएँगे ;

kuchh waqt ki baat hai ,
hum snbhal jaenge ;

59. माफ़ कर मैं हूँ काबिल ,
दूर रहना वरना हो जाओगी घायल ;

maaf kar main hoon kabil ,
door rhna warana ho jaogi ghayal ;

शायरी की डायरी | Sad Sayri ki dayri


shayari ki dayari, shayri ki dayri

60. दिल छोड़ आये , जान छोड़ आये ,
सफर में ना जाने कितने मुक़ाम छोड़ आये ;

dil chhod aye , jaan chhod aye ,
safar me naa jane kitne mukaam chhod aaye ;

61. थामने पर भी नहीं थम रहे ,
फिसल रहे है , कुछ रिश्ते जैसे हांथो से रेत ;

thaamne par bhi nahi tham rahe ,
fisal rahe hai , kuchh rishte jaise hantho se reyt ;

62. आखिर देता मुझे ये कैसी सजा भी तू है ,
गलती भी तेरी और खफ़ा भी  तू है ;

akhir deta mujhe ye kaisi sja bhi tu hai ,
galti bhi teri or khfa bhi  tu hai ;

63. सोने वाले नहीं समझ सकते ,
जागने वालों के मसले क्या है ;

sone vale nahi samajh sakte ,
jaagne walo ke masle kya hai ;

64. तुम , तुम ही रहो ,
adjust लोगो को करने दो...;

tum , tum hi raho ,
adjust logo ko karne do...;

Shayri ki diary fb | Shayari ki diary romantic



shayari ki dayari, shayri ki dayri

65. तुम्हारा हर अनकहा सुना मैंने ,
मेरा हर कहा तुम अनसुना कर गए ;

tumhara har ankaha suna maine ,
mera har kaha tum ansuna kar gae ;

66. बोझ कभी ढो रहे हैं ,
फर्क सिर्फ बर्दाश्त की हद का है ;

bojh kabhi ddho rahe hain ,
fark sirf bardasht ki had ka hai ;

67. अगर भूल जाऊ तो सुना देना ,
एहसास अपने गिना देना ;

agar bhool jau to suna dena ,
ehsas apne gina dena ;

68. दर्द तब नहीं होता जब लोग साथ छोड़ते है ,
दर्द तब होता है , जब लोग भरोसा तोड़ते है ;

dard tab nahi hota jab log sath chhodte hai ,
dard tab hota hai , jab log bharosa todte hai ;

69. किसी के चेहरे की ,
ख़ुशी देखने के लिए हमने ,
अपने आप को बदल लिया...;

kisee ke chehare kee ,
khushee dekhane ke lie hamane ,
apane aap ko badal liya...;

love diary images in hindi


shayari ki dayari, shayri ki dayri

70. कुछ लम्हे सजाए है उनकी याद में ,
पर वो तो मस्त है अपनी ही बारात में ;

kuchh lamhe sjae hai unki yaad me ,
par wo to mast hai apni hi barat me ;

71. चर्चा नशे की हो रही थी ,
मैं जिक्र तेरी निगाहों का कर आया ;

charcha nashe ki ho rahi thi ,
main jikr teri nigaho ka kar aaya ;

72. वो जिन्हे मिलना ही नहीं होता  ,
तो फिर मिलते ही क्यों है ;

wo jinhe milna hi nahi hota  ,
to phir milte hi kyo hai ;

73. बदलते मौसम की तरह वो शख्स बदलना ,
पेड़ सूखते ही परंदो का ठिकाना बदलना ;

badlte mausam ki tarah wo shaks bdlna ,
ped sukhte hi parando ka thikana badlna ;

74. न पूरी तरह से काबिल ,
न पूरी तहर से पूरा है ,साहब
हर एक शख्स कही न कही से अधूरा है ;

n puri tarah se kabil ,
n puri tahar se pura hai ,sahab
har ek shaks kahi n kahi se adhura hai ;

my diary status | sad diary images


shayari ki dayari, shayri ki dayri

75. कुछ ख्वाब रौशनी से साया हो गए ,
ज़ज़्बात ही तो थे जाया हो गए...;

kuchh khwab roshni se saya ho gae ,
zazbat hi to the jaya ho gae...;

76. तुम शोर करते हो सुर्खियों में आने के लिए ,
हमारी तो ख़ामोशी अख़बार बनी हुई है...;

tum shor karte ho surkhiyo me aane ke liye ,
hamari to khamoshi akhbar bni hui hai...;

77. कुछ इस कदर बदलता है वक़्त मुझे ,
ना इश्क़ र्ह ना रही नाराजगी किसीसे ;

kuchh is kadar badlta hai waqt mujhe ,
naa ishq rha naa rahi narajgi kisise ;

78. ख़ुशी कहा हम तो गम चाहते है ,
ख़ुशी उन्हें दे दो जिन्हें हम चाहते है ;

khushi kaha hum to gum chahte hai ,
khushi unhe de do jinhe hum chahte hai ;

79. मेरी पसंद सिर्फ एक तुम थी ,
अब बाद तुम्हारे , तो बस समझौते  होंगे ;

meri pasand sirf ek tum thi ,
ab baad tumhare , to bas samjhote  honge ;

dear diary attitude


shayari ki dayari, shayri ki dayri

80. आँखों की भी क्या मजबूरी है ,
पलके वही झुकती है जहाँ ,
इश्क़ होता है ;

ankho ki bhi kya majboori hai ,
palke wahi jhukti hai jahan ,
ishq hota hai ;

81. दिल से उतर जाने वाले लोग ,
सामने भी हो तो नजर नहीं आते ;

dil se utar jaane wale log ,
samne bhi ho to najar nahi aate ;

82. कसूर तो बहुत किए है ,
ज़िन्दगी में , पर सजा वहां मिली ,
जहा बेक़सूर थे ;

kasoor to bahut kie hai ,
zindagi me , par sja wahaa mili ,
jaha bekasoor the ;

83. रास्ता तुमने बदला था ,
मंजिल मेरी बदल गई ;

rasta tumne badla tha ,
manjil meri badal gai ;

84. शराब खुद आई थी , मेरे पास अर्ज़ी ले कर ,
कहा होंठो से लगालो अपने सारे गम से कर ;

shrab khud ai thi , mere pass arzi le kar ,
kaha hontho se lgaalo apne sare gum se kar ;

meri diary se images in hindi | love diary images in hindi


shayari ki dayari, shayri ki dayri

85. बातों की गहराई अब कौन ही जाने ,
सब उंगलिया उठाते है आधा - अधूरा सुने ;

baato ki gahrai ab kaun hi jane ,
sab ungiliya uthate hai adha - adhura sune ;

86. एक दूसरे के जैसा होना जरूरी नहीं होता ,
एक दूसरे के लिए होना जरूरी होता है ;

ek dusre ke jaisa hona jaroori nahi hota ,
ek dusre ke liye hona jaroori hota hai ;

87. उस रिश्ते को भी निभाया हमने ,
जिसमे ना मिलना पहले शर्त थी ;

us rishte ko bhi nibhaya humne ,
jisme naa milna pahle shart thi ;

88. बड़े बेताब थे हमसे मोहब्बत करने  को ,
ये बात अलग है के वो निभा  न सके ;

bade betab the humse mohabbat karne  ko ,
ye baat alag hai ke wo nibha  na sake ;

89. शुक्र है बग़ावत सिर्फ हमारे लफ्ज़ो में है ,
कही स्वभाव में होती तो क़यामत आजाती ;

shukar hai bgaavat sirf hamare lafzo main hai ,
kahi svbhav me hoti to kyaamat aajati ;

dear diary attitude images


shayari ki dayari, shayri ki dayri

90. रिश्ते को निभाना हो तो खामोश  रहना सीखो ,
अक्सर जुबानी लड़ाई में रिश्ते बिखर जाते है ;

rishte ko nibhana ho to khamosh  rahna sikho ,
aksar jubaani ldai me rishte bikhar jate hai ;

91. मिलने को तो हर शख्स एहतराम से मिला ,
पर जो मिला किसी न किसी काम से मिला ;

milne ko to har shaks ehtram se mila ,
par jo mila kisi n kisi kaam se mila ;

92. यह ज़िन्दगी है साहब बिखरेगी नहीं ,
तो निखरेगी कैसे ;

yah zindagi hai sahab bikhregi nahi ,
to nikhregi kaise ;

93. खेल सरे खेलने पर किसी की फीलिंग ,
के साथ मत खेलना ;

khel sare khelna par kisi ki feeling ,
ke sath mat khelna ;

94. पानी से भरे बादल  ,
हवा से आगे बढ़ जाते है ,
नीचे नहीं गिरते ,
और कुछ लोग कहते है ,
भगवान् नहीं है ;

pani se bhare baadal  ,
hwa se aage badh jate hai ,
niche nahi girte ,
or kuchh log kahte hai ,
bhagvaan nahi hai ;

 Shayari ki Dayari | शायरी की डायरी

shayari ki dayari, shayri ki dayri

95. तुम गलत नहीं हो ,
बस हमसे अलग हो ;

tum galat nahi ho ,
bas humse alag ho ;

96. दिखाई कम दिया करते है ,
बुनियाद के पत्थर ,
जमीं में जो दब गए ,
इमारत उन्ही पे कायम है ;

dikhai kam diya karte hai ,
buniyaad ke pathar ,
jamin me jo dab gaye ,
imaart unhi pe kayam hai ;

97. कागज पर लिख कर जाया कर दू ,
में वो शायर हूँ जिसे दिलो पे ,
लिखने का हुनर आता है ;

kagaj par likh kar jaya kar du ,
me wo shayar hu jise dilo pe ,
likhne ka hunar aata hai ;

98. मसला ये नहीं के लोग हमारी परवाह नहीं करते ,
यकीन है खुद पर अब हम उम्मीद भी नहीं रखते ;

masla ye nahi ke log hamari parwah nahi karte ,
yakeen hai khud par ab hum ummed bhi nahi rakhte ;

99. न जाने किस बात का गम उसे सता रहा था ,
वो शख्स बैठे बैठे मुस्करा रहा था ;

na jane kis baat ka gum use sta raha tha ,
wo shaks baithe baithe muskura raha tha ;

Shayi ki Dayri | शायरी की डायरी


shayari ki dayari, shayri ki dayri

100. चलो ठीक है नहीं है तेरा कोई कसूर ,
हमें अब फर्क नहीं पड़ता , क्योकि चले आये है ,
हम बहुत दूर ;

chalo theek hai nahi hai tera koi kasoor ,
hame ab fark nahi padta , kyoki chale aaye hai ,
hum bahut door ;

I Hope you liked these articles : Shayari ki dayari ( Shayri ki Dayri ),  shayri ki dayri in hindi,  Hindi Shayari ki Dairy , मेरी डायरी की शायरी, love diary images in hindi Etc.


पोस्ट को पढ़ने के लिए आपका बहुत-बहुत धन्यबाद , यदि आपको हमारी पोस्ट  ( Shayi ki Dayri |शायरी की डायरी ) पसंद आई हो तो अपने मित्रों के साथ जरूर शेयर करें और एक अच्छा सा कमेंट करना न भूलें धन्यबाद !

इसे भी पढ़े –